News & Events

         
         

       
  Title :
बारादरी पर 25 जुलाई से पहचान पत्र से ही एंट्री, 2 घंटे के लिए वैलिड होगा पास
  Description :  
 

- जिला कलेक्टर गौरव गोयल की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में बारादरी को लेकर कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं।

- अब प्रतिदिन सुबह 8 से रात 10 बजे तक पर्यटकों का प्रवेश रहेगा, साथ ही बारादरी पर गंदगी फैलाने, कचरा डालने या पुरामहत्व के स्मारकों या भवनों पर लिखने या उन्हें गंदा करने वालों पर हाथोंहाथ जुर्माना लगाया जाएगा।
- बारादरी पर प्रतिदिन सुबह घूमने आने वाले शहरवासियों को सुबह 8 बजे तक इन औपचारिकताओं से छूट रहेगी।
- गोयल ने बताया कि आनासागर झील के किनारे स्थित बारादरी एक संरक्षित एवं ऐतिहासिक स्थान है।
- अजमेर के पर्यटन विकास में बारादरी का विशेष योगदान है।
- इसे स्वच्छ, सुंदर एवं सुरक्षित बनाने के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करने होंगे।
- इसके लिए बारादरी विकास के लिए विभिन्न निर्णय किए गए हैं।
सुनहरा इतिहास : 379 साल पहले बनी बारादरी, मुगल बादशाह ने करवाया निर्माण
- मुगल बादशाह ने आनासागर झील के किनारे वर्ष 1637 में पांच बारादरी बनवाई तथा 1240 फीट लंबा संगमरमर का कटरा लगवाया।
- इनमें से चार बारादरी आज भी मौजूद है। इस पर तीन दरवाजे भी बने थे, जो एक बार ध्वस्त हो गए, जिन्हें नए सिरे से बनाया गया है।
- करीब डेढ़ साल से बारादरी पर जाने पर सख्ती लगाने का प्रयास किया जा रहा था, क्योंकि यहां पर भीख मांगने वालों का जमावड़ा लगा रहता है।
- खोमचे वालों द्वारा पापड़ बेचने, दाल, चना के कारण बारादरी व साथ लगे बगीचे में गंदगी फैलती रहती है।
खाद्य सामग्री की बिक्री पर प्रतिबंध, गंदगी फैलाई तो जुर्माना
- जिला प्रशासन ने बारादरी पर किसी भी तरह की खाद्य वस्तु के बेचान व उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है।
- मछलियों को ब्रेड, आटे की गोली, रोटी आदि नहीं डाली जा सकेंगी। यहां पानी की बोतल एवं छोटे बच्चों की दूध की बोतल के अलावा अन्य किसी तरह की खाने-पीने की सामग्री नहीं ले जाई जा सकेगी।
- बारादरी पर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग, नगर निगम के कर्मचारी, पुलिस एवं होमगार्ड के जवान लगातार घूमते रहेंगे।
- बारादरी एवं झील में किसी भी तरह का कचरा फैलाने या गंदगी करने पर संबंधित के खिलाफ तुरंत नियमानुसार जुर्माना किया जाएगा।
- कोई पर्यटक इमारत की सुंदरता खराब करता पाया गया, तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।
सुरक्षा जांच होगी, निशुल्क पास होगा जारी

- बारादरी पर जाने के लिए बजरंगगढ़ एवं ऋषि घाटी संपर्क सड़क स्थित गेट से प्रवेश मिलेगा।
- मेटल डिटेक्टर की सुविधायुक्त दरवाजे एवं उपकरणों से लैस महिला व पुरुष सिपाही रहेंगे, जो कि सुरक्षा जांच के बाद पर्यटकों को सुबह 8 से रात 10 बजे तक प्रवेश देंगे।
- प्रत्येक पर्यटक को प्रवेश पर एक पास दिया जाएगा, जो दो घंटे के लिए वैध होगा। यह पास निशुल्क रहेगा।
- निर्धारित अवधि से अधिक समय तक एवं बिना पास बारादरी पर रुकने वालों के खिलाफ नियमानुसार जुर्माने की कार्रवाई होगी, जो कि 500 रुपए प्रति व्यक्ति तक हो सकती है।
- यहां चार सीसीटीवी कैमरे एवं दो बड़ी घड़ियां भी लगाई जाएंगी।

मनोरंजन के लिए होंगे विशेष प्रयास
- गोयल ने बताया कि झील एवं बारादरी पर घूमने आने वाले पर्यटकों को बेहतरीन अनुभव देने के लिए झील में दो विशेष नौकाएं तैयार कराई जाएंगी।
- इन नौकाओं पर स्थानीय लोक कलाकार प्रतिदिन एक निर्धारित अवधि तक अपनी प्रस्तुतियां देंगे।
     
     

More News & Events

 
 
Japanese scientist Ohsumi wins...  


स्वतंत्रता दिवस : मुख्य समारोह...  


अगली बार फिर भाजपा की सरकार बन...  


शिक्षा मंत्री को पता नहीं और प...  


गैंगस्टर आनंदपाल के घर के बाहर...  


पंचशील ई ब्लॉक : 238 भूखंड के ...  


बारादरी पर 25 जुलाई से पहचान प...  


अजमेर की ऐतिहासिक और प्राकृतिक...  


कक्षा 9 के बच्चे हिंदी में पढ़...  


CM वसुंधरा अजमेर की राजनीति और...